शिक्षा - रोजगार

मजदूर के बेटे ने गीता ज्ञान व परिश्रम से मजबूत बनाया इरादा,माँ-बाप व स्कूल का किया नाम रोशन

गैरेज में मजदूरी करने वाले का बेटा 12 वी में आया एवन,ज्ञान ज्योति विद्यालय के सभी बच्चों का बना चहेता

 

तुलसी साव की मार्कशीट

सूरत।स्वामी विवेकानंद ने श्रीमद भागवत गीता की महिमा का वर्णन करते हुए कहा था कि इस अदभुत ग्रन्थ के 18 छोटे अध्यायों में इतना सारा सत्य, इतना सारा ज्ञान और इतने सारे उच्च, गम्भीर और सात्त्विक विचार भरे हुए हैं कि वे मनुष्य को निम्न-से-निम्न दशा में से उठा कर देवता के स्थान पर बिठाने की शक्ति रखते हैं।

इसी विचार को आत्मसात करते हुए गोड़ादरा के ज्ञानज्योत विद्यालय का विद्यार्थी अपनी खराब आर्थिक स्थिति तथा संसाधनों के अभाव को धता बताते हुए 12वी विज्ञान में ए- वन ग्रेड के साथ उत्तीर्ण होकर विद्यालय तथा माता- पिता का नाम रोशन किया ।

कड़ोदरा में गेरेज में मजदूरी करने वाले झारखंड के कमलापति साव का पुत्र तुलसी हर रोज कड़ोदरा से गोड़ादरा का लगभग 12 किमी का सफर तय कर अध्ययन हेतु आता था । खराब आर्थिक स्थिति के कारण विद्यालय के अलावा कोई भी ट्यूशन आदि न होने के बावजूद भी अपनी मेहनत से उसने 12 वी विज्ञान में अच्छे नम्बर प्राप्त किये । तुलसी अपनी सफलता का श्रेय मेहनत के अलावा श्रीमद भगवतगीता को देता है, जिसके नित्य पाठ के कारण वो एकाग्रचित होकर अध्ययन कर सका । गीता के ज्ञान ने उसे उसी प्रकार विषाद से बाहर निकाल दृढ़ प्रतिज्ञ बनाया जिस प्रकार अर्जुन को भगवान श्री कृष्ण ने कर्तव्यपरायण करके युद्धरत किया था । तुलसी साव 10 कक्षा में भी अच्छे मार्क से पास हुआ था।तब से ही वह गीता का प्रतिदिन पाठ किया करता है।

ज्ञानज्योत विद्यालय के लालजी भाई नकुम ने बताया कि तुलसी साव को उसकी प्रतिभा के कारण छात्रवृत्ति दी जाती थी तथा उसकी फीस का 50% माफ कर दिया जाता था । उसकी उपलब्धि से माता -पिता के साथ विद्यालय प्रशासन भी गौरवान्वित महसूस कर रहा है ।

तुलसी साव ITT सेक्टर में इलेक्टिकल इंजीनियर बनकर अपने माता-पिता का सपना साकार करना चाहता है।

Show More

Surat Darpan

Admin Of Surat Darpan. Always Giving Latest News In Hindi.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker